भविष्य में टनल प्रद्यौगिकी की अपार सम्भावनायें – डीएम डॉ. आशीष चौहान

पौड़ी :  जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान ने कलक्ट्रेट सभागार में जनपद क्षेत्रांतर्गत रेलवे विकास निगम लिमिटेड के कार्यो की समीक्षा करते हुए कार्यो को निर्धारित समयसीमा के भीतर पूरा करने के निर्देश दिये। टनल प्रद्यौगिकी की सबसे उन्नत मशीनों से टनल के निर्माण कार्यो का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी ने रेलवे के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनपद के तकनिकी शिक्षण संस्थानों में शिक्षणरत्त छात्रों को टनल प्रद्यौगिकी का क्रेश कोर्स/प्रशिक्षण शीघ्र ही रुपरेखा तैयार करें।

ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेललाईन परियोजना के तहत जनपद क्षेत्रांतर्गत निर्माणाधीन कार्यो की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि भविष्य टनल प्रद्यौगिकी की सम्भावनाओं से भरा पड़ा है। उन्होने कहा कि टनल प्रद्यौगिकी के विशेषज्ञ देश भर में विरले ही मिल पाते है इस कड़ी में ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेललाईन परियोजना जनपद सहित प्रदेश के अन्य तकनिकी शिक्षा के छात्रों के लिए मील का पत्थर साबित हो सकता है। जिलाधिकारी ने रेलवे व एनआईटी सुमाड़ी, जीबी पंत प्रद्यौगिकी कॉलेज घुडदौड़ी, पॉलीटेक्निक पौड़ी व आईटीआई पौड़ी के प्रबंधकों/हेड को निदेश दिये कि शिक्षणरत्त तकनिकी छात्रों को टनल प्रद्यौगिकी का क्रेश कोर्स/प्रशिक्षण करवाने के लिए शीघ्र ही एक मसौदा तैयार करें ताकि इस अपार सम्भवना को अवसर में बदला जा सके।

ढुंगरीपंथ के प्रभावितों के लम्बित 13 करोड़ के प्रतिकर के भुगतान को लेकर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि जिन प्रभावितों को प्रतिकर का भुगतान नहीं किया गया है उनका प्राथमिकता के आधर पर भुगतान करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि रेलवे के निर्माण कार्यो के दौरान श्रमिकों के सुरक्षा के पुख्ता इन्तेजाम हों। इस अवसर पर एजीएम विजय डंगवाल, रेलवे प्रबंधक पीपी बडोगा सहित विनोद, राहुल व अन्य उपस्थित थे।

1 thought on “भविष्य में टनल प्रद्यौगिकी की अपार सम्भावनायें – डीएम डॉ. आशीष चौहान

Comments are closed.

Share