गंगा विचार मंच की एक दिवसीय बैठक का आयोजन

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री ने की सराहना

हरिद्वार। विगत 19 दिसंबर को दिल्ली के सेंट्रल वाटर कमीशन, सेवा भवन, आर. के. पुरम में नमामि गंगे के गंगा विचार मंच की एक दिवसीय बैठक का आयोजन हुआ। जिसमे केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रह कर सभी राज्यों से आए पदाधिकारियों से उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की और उनके सुझावों को सुना। उन्होंने कहा कि आप सभी बिना किसी सरकारी आर्थिक सहयोग के स्वम के सामाजिक सहयोग से मां गंगा की सेवा के लिए बहुत अच्छा कार्य कर रहे हैं जिसकी जितनी प्रशंसा की जाए उतनी कम है। गंगा विचार मंच की आज की इस एक दिवसीय गोष्ठी में पधारे गंगोत्री से गंगा सागर तक के सभी सुदुर क्षेत्रों से पधारे प्रान्त स्तर के सभी संयोजकों एवं सह-संयोजकों के साथ-साथ जिला स्तर के सभी संयोजक गण भी उपस्थित रहे। गंगा विचार मंच के राष्ट्रीय संयोजक डॉ० भरत पाठक जी ने सभी के द्वारा दिए गए महत्वपूर्ण विषयों पर माननीय मंत्री जी को अवगत करवाया गया। आपके द्वारा प्रांत संयोजकों को मंच पर सुझाव प्रस्तुत करने के लिए आमंत्रित भी किया गया। आपने बताया कि किस प्रकार सभी प्रांतों की टीम सराहनीय कार्य कर रही है।
उत्तराखंड से गए प्रांत संयोजक लोकेंद्र सिंह बिष्ट जी के नेतृत्व में उत्तराखंड की टीम भी उपस्थित रही। बिष्ट जी के साथ उत्तराखंड के प्रांत सह संयोजक आशीष कुमार झा जी के साथ हरिद्वार जिले के संयोजक मनोज शुक्ला जी और सह संयोजक लव नाथ जी, उत्तरकाशी के जिला संयोजक जय प्रकाश भट्ट जी और बीइंग भागीरथ के शिखर पालीवाल जी भी बैठक में शामिल हुए। गंगा विचार मंच, उत्तराखंड के संयोजक और सहसंयोजक द्वारा माननीय मंत्री जी को रुद्राक्ष का पौधा दिया गया और शॉल भेंट स्वरूप प्रदान की गई। हरिद्वार में आशीष कुमार झा जी के मार्ग दर्शन में उनकी सामाजिक संस्था इमैक के द्वारा हर घर तिरंगा, हर घाट तिरंगा अभियान के कार्यों को नमामि गंगे की पत्रिका में स्थान भी मिला है। यहां यह बताना उचित रहेगा कि आशीष कुमार झा जी के द्वारा गंगा विचार मंच और इमैक की टीम प्रत्येक रविवार नमामि गंगे, चंडी घाट पर संयुक्त रूप से आसपास की बस्ती के निर्धन परिवारों के बच्चों को शिक्षा के साथ कला का भी ज्ञान देते हैं और घाट पर आने वाले श्रद्धालुओं को गंगा की स्वच्छता और निर्मलता को बनाए रखने के लिए जागरूक करने की प्रेरणा भी देते हैं। इमैक समिति द्वारा बच्चों में कला और संस्कृति का संचार करने के लिए 26 जनवरी 2022 गणतंत्र दिवस और 15 अगस्त 2022 स्वतंत्रता दिवस पर आसपास की बस्ती में रहने वाले बच्चों के साथ देशभक्ति के वीडियो भी शूट किए गए हैं। गंगा विचार मंच और इमैक समिति की उत्तराखंड में नमामि गंगे द्वारा किए जाने वाले लगभग सभी आयोजनों, बैठकों और समारोह में महत्वपूर्ण सहभागिता रहती हैं। नमामि गंगे की तरफ से राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के महानिदेशक जी. अशोक कुमार जी ने बैठक में उपस्थित उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के सभी पदाधिकारियों और गंगा समग्र प्रहरियों का आभार प्रकट करते हुए बताया कि आगामी दिनों में गंगा विचार मंच की सभी राज्यों में महत्वपूर्ण भूमिका रहने वाली हैं। उन्होंने कहा की गंगा विचार मंच के पदाधिकारियों द्वारा दिये गये सभी सुझावों का शीर्ष नेतृत्व आभार प्रकट करते हुए उस पर त्वरित कार्यवाही का आश्वाशन देता है। गंगा, यमुना समेत अन्य नदियों के संरक्षण से सम्बंधित तमाम पहलुओं को लेकर किया गया रचनात्मक संवाद बहुत महत्वपूर्ण रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share