स्वतंत्र भारत के पहले मतदाता श्याम सरन नेगी का 106 वर्ष की उम्र में निधन, दो दिन पहले किया था मतदान

देश के पहले वोटर का निधन, दो दिन पहले डाला था वोट, 106 साल थी उम्र पहाड़ समाचार editor

हिमाचाल: देश के पहले वोटर का 106 साल की उम्र में निधन हो गया है। सिलेब्रिटी वोटर के रूप में पहचान रखने वाले देश के पहले वोटर श्याम सरन नेगी…

देश के पहले वोटर का निधन, दो दिन पहले डाला था वोट, 106 साल थी उम्र पहाड़ समाचार editor

हिमाचल : देश के पहले वोटर का 106 साल की उम्र में निधन हो गया है। सिलेब्रिटी वोटर के रूप में पहचान रखने वाले देश के पहले वोटर श्याम सरन नेगी का निधन हो गया है। किन्नौर के श्याम सरन नेगी ने निधन से दो दिन पहले ही डाक वोट के जरिए अपने मताधिकारी का प्रयोग किया था। उनका वोट लेने के लिए चुनाव आयोग की ओर से खास इंतजाम किए गए थे। उन्हें लाल कालीन पर लाया गया था और पूरे सम्मान के साथ वोट लिया गया था। बुजुर्ग होने के चलते मतदान टीम उनके घर पहुंची थी और पोस्टल बैलेट के जरिए मतदान की तारीख से पहले ही वोट लिया था। श्याम सरन नेगी ने देश के पहले आम चुनाव में पहला वोट डाला था और तब से वह कभी भी वोट डालने का मौका नहीं चूके थे।

श्याम सरन नेगी की उम्र 106 साल थी और वह कभी मतदान का मौका नहीं चूकते थे। वह कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। किन्नौर के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर आबिद हुसैन ने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से श्याम सरन नेगी के अंतिम संस्कार की तैयारियां की जा रही हैं। उन्हें पूरे सम्मान के साथ विदाई दी जाएगी और इसके लिए बैंड का भी इंतजाम किया गया है। श्याम सरन नेगी का जन्म 1 जुलाई, 1917 को हुआ था। वह किन्नौर के ही कल्पा में अध्यापक के तौर पर कार्यरत थे।

भारत में ब्रिटिश शासन की समाप्ति के बाद जब 1951 में पहली बार आम चुनाव कराए गए थे तो श्याम सरन नेगी पहले शख्स थे, जिन्होंने मतदान किया था। 25 अक्टूबर, 1951 को लाइन में लगकर मतदान करने वाले पहले व्यक्ति थे। तब आम चुनाव फरवरी 1952 में हुए थे, लेकिन हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी के चलते 5 महीने पहले ही मतदान करा लिया गया था।

1 thought on “स्वतंत्र भारत के पहले मतदाता श्याम सरन नेगी का 106 वर्ष की उम्र में निधन, दो दिन पहले किया था मतदान

Comments are closed.

Share