रुड़की तहसीलदार सुनैना राणा, उनके अर्दली व चालक की नहर में डूबने से मौत

बिजनौर को जाने वाली पूर्वी गंग नहर में एक बार फिर जानलेवा दुर्घटना घटित हुई है, देर रात्रि हुई इस वाहन दुर्घटना में रूड़की तहसील जनपद हरिद्वार तहसीलदार सुनैना राणा सहित उनके अर्दली व वाहन चालक ने अपने प्राण गवाएं। ऐसी घटनाएं निश्चित ही हमें रात्रि को वाहन चलाने पर सावधानी बरतने की ओर इशारा करती दिखती हैं। अब यहां इसे होनी कहकर टाल दें तो अलग बात है। प्राप्त समाचारानुसार शनिवार की रात को रुड़की तहसीलदार सुनैना राणा नैनीताल में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेकर जीप से अपने अर्दली सहित रुड़की लौट रहे थे। नजीबाबाद में श्रवणपुर के सामने उनकी गाड़ी अनियंत्रित होकर पूर्वी गंगा नहर में गिर गई। तहसीलदार सहित तीनों लोग नहर के अथाह गहरे पानी में डूब गए।

रुड़की तहसीलदार सुनैना राणा, उनके अर्दली व चालक की नहर में डूबने से मौत

संतोष बहुगुणा
नजीबाबाद/नैनीताल। बिजनौर को जाने वाली पूर्वी गंग नहर में एक बार फिर जानलेवा दुर्घटना घटित हुई है, देर रात्रि हुई इस वाहन दुर्घटना में रूड़की तहसील जनपद हरिद्वार तहसीलदार सुनैना राणा सहित उनके अर्दली व वाहन चालक ने अपने प्राण गवाएं। ऐसी घटनाएं निश्चित ही हमें रात्रि को वाहन चलाने पर सावधानी बरतने की ओर इशारा करती दिखती हैं। अब यहां इसे होनी कहकर टाल दें तो अलग बात है। 
प्राप्त समाचारानुसार शनिवार की रात को रुड़की तहसीलदार सुनैना राणा नैनीताल में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेकर जीप से अपने अर्दली सहित रुड़की लौट रहे थे। नजीबाबाद में श्रवणपुर के सामने उनकी गाड़ी अनियंत्रित होकर पूर्वी गंगा नहर में गिर गई। तहसीलदार सहित तीनों लोग नहर के अथाह गहरे पानी में डूब गए। स्थानीय लोगों और गोताखोरों की मदद से तहसीलदार सहित तीनों लोगों रात भर तलाश की गई। लम्बे समय के बाद क्रेन की मदद से तहसीलदार की गाड़ी को रेस्क्यू कर नहर से बाहर निकाला गया। दुर्घटना के शिकार हुए तहसीलदार सुनैना राणा और अर्दली ओमपाल व चालक सुंदर तीनों के शव भी तलाश लिए गए। रुड़की तहसीलदार व अन्य के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
बिजनौर एसपी डा. धर्मवीर सिंह ने बताया कि शनिवार की रात के समय गाड़ी नहर में गिर गई। गाड़ी में उत्तराखंड के एक अधिकारी सहित तीन लोग सवार थे। डीएम रमाकांत पांडेय ने बताया कि श्रवणपुर के पास डूबे लोगों को निकालने के लिए एसपी के नेतृत्व में रात भर रेस्क्यू आपरेशन चलाया गया।  हरिद्वार के डीएम व एसपी को भी मामले में अवगत कराया गया