भारी बर्फवारी: थल-मुनस्यारी मार्ग दुसरे दिन भी बंद, बड़ी दुश्वारी

अभी भी वाहन जगह-जगह फंसे हुए हैं। प्रशासन का कहना है कि जल्द ही थल-मुनस्यारी मार्ग को खोल लिया जाएगा। फिलहाल आवाजाही के लिए जौलजीबी मुनस्यारी मार्ग खुला हुआ है।

भारी बर्फवारी: थल-मुनस्यारी मार्ग दुसरे दिन भी बंद, बड़ी दुश्वारी


पिथौरागढ़। बीते दिनों हुई भारी बर्फबारी के कारण दूसरे दिन भी थल-मुनस्यारी मार्ग बंद पड़ा हुआ है। मार्ग को खोलने के लिए पीडब्ल्यूडी ने स्नो कटर और जेसीबी मशीन लगाई हुई है। मुनस्यारी के खलियाटॉप और आस-पास के इलाकों में फंसे पर्यटकों और स्थानीय लोगों को एसडीआरएफ ने भले ही निकाल लिया हो। मगर अभी भी वाहन जगह-जगह फंसे हुए हैं। प्रशासन का कहना है कि जल्द ही थल-मुनस्यारी मार्ग को खोल लिया जाएगा। फिलहाल आवाजाही के लिए जौलजीबी मुनस्यारी मार्ग खुला हुआ है।
पिथौरागढ़ जिले में बीते दिनों से हो रही बारिश और बर्फबारी के बाद आज मौसम खुल गया है। मौसम खुलने पर दूर-दराज से मुनस्यारी पहुंचे सैलानियों के चेहरे खिले हुए हैं। पर्यटक बर्फ में अटखेलियां करते नजर आ रहे हैं। मुनस्यारी के अलावा व्यास, दारमा और चौदास घाटी में भी जमकर बर्फबारी हुई है। मिलम घाटी भी बर्फ की सफेद चादर में ढक गई है। भारी बर्फबारी के चलते चीन सीमा को जोड़ने वाला लिपुलेख मार्ग भी बर्फ से पूरी तरह पटा हुआ है। जिसे खोलने में बीआरओ के कर्मचारी जुटे हुए हैं। भारी बर्फबारी के कारण उच्च हिमालयी क्षेत्रों में देश की सुरक्षा में डटे जवानों को भी खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।