नो जाम: अब आनंद से गुजरिए प्रदेश के सबसे लम्बे फ्लाईओवर से

मोतीचूर रेलवे स्टेशन क्रासिंग फाटक पर लगने वाले जाम से लोगों को निजात मिलेगी। साथ ही वन्य जीवों आवाजाही में भी कोई दखल नहीं होगा।आवाजाही शुरू होते ही इस पुल का नाम उत्तराखण्ड के सबसे लम्बे पुल के रूप में दर्ज हो गया।

नो जाम: अब आनंद से गुजरिए प्रदेश के सबसे लम्बे फ्लाईओवर से

हरिद्वार। जिसका आपको वर्षों से था इंतजार..वो घड़ी आ गयी, आ गयी। जी बिल्कुल अब  हरिपुरकलां फ्लाईओवर बनकर तैयार है और आनंद गुजरिए इस प्रदेश के सबसे लम्बे फ्लाईओवर से, जाम के झाम से मुक्ति दिलाने वाले इस  2 किलोमीटर फ्लाईओवर से हरिद्वार से देहरादून-ऋषिकेश मार्ग पर अब सफर करना पहले से सुगम हो गया है। मोतीचूर रेलवे स्टेशन क्रासिंग फाटक पर लगने वाले जाम से लोगों को निजात मिलेगी। साथ ही वन्य जीवों आवाजाही में भी कोई दखल नहीं होगा।
आवाजाही शुरू होते ही इस पुल का नाम उत्तराखण्ड के सबसे लम्बे पुल के रूप में दर्ज हो गया।  प्रदेश के इस सबसे लम्बे फ्लाईओवर के जरिए सप्तऋषि चेक पोस्ट से होकर हरिपुरकलां का बाजार, राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क का एंट्री गेट और सूखी नदी के साथ साथ जंगल का एरिया पार कर, राजाजी के बीच वन क्षेत्र में तीन मोरी पुलिया तक पहुंचा जा सकेगा।