आल इंडिया ब्राह्मण फेडरेशन ने सरकार से ‘स्वर्ण आयोग’ के गठन की मांग की

श्री शर्मा ने बताया कि कोरोना काल में फेडेरेशन ने जरूरत मंद लोगों की बढ़चढ़कर मदद की है व राष्ट्र हित में कार्य किए हैं, सर्व जन हिताय का कार्य फेडेरेशन कर रही है। उन्होंने कहा कि अनर्गल बातों, मुददों पर मीडिया के माध्यम से समय-समय पर आपत्ति दर्ज कराई है।

आल इंडिया ब्राह्मण फेडरेशन ने सरकार से ‘स्वर्ण आयोग’ के गठन की मांग की

सूर्यकांत बेलवाल
सोल ऑफ इंडिया 
हरिद्वार। आल इंडिया ब्राह्मण फेडरेशन ने पुरजोर तरीके से सरकार से ‘स्वर्ण आयोग’ के गठन की मांग की है। आल इंडिया ब्राह्मण फेडरेशन के राष्ट्रीय महामंत्री पं. पद्म प्रकाश शर्मा ने प्रेस क्लब हरिद्वार में फेडरेशन के पदाधिकारियों से परिचय कराते हुए फेडरेशन के गठन व उसकी उपलब्धि्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने 121 सदस्यीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा करते हुए उसकी सूची जारी की। इससे पूर्व पदाधिकारियों ने मौजूद सभी लोगों को नववर्ष की शुभकामनाएं भी दीं।
पं. शर्मा ने कहा कि देश के कई राज्यों में ब्राह्मण वेलफेयर फेडरेशन बोर्ड, कारपोरेशन आदि का कुशलता से गठन हुआ है तथा इस माध्यम से समाज के लोगों के हित में कई महत्वपूर्ण निर्णय हुए हैं। उन्होंने कहा कि उनका आल इंडिया ब्राह्मण फेडरेशन जिसके राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. प्रदीप गोपालदास ज्योथि(केरला) हैं,  सरकार से ‘स्वर्ण आयोग’ के गठन की मांग करता है।  यह भी कहा कि सामान्य जाति के लोगों को आर्थिक आधार 10 प्रतिशत आरक्षण में मिलने में उनकी फेडरेशन की बहुत भूमिका रही है। श्री शर्मा ने बताया कि कोरोना काल में फेडेरेशन ने जरूरत मंद लोगों की बढ़चढ़कर मदद की है व राष्ट्र हित में कार्य किए हैं, सर्व जन हिताय का कार्य फेडेरेशन कर रही है। उन्होंने कहा कि अनर्गल बातों, मुददों पर मीडिया के माध्यम से समय-समय पर आपत्ति दर्ज कराई है। राष्ट्रीय महामंत्री ने बताया कि हरिद्वार जैसे महत्वपूर्ण स्थल पर ब्राह्मण समाज की कोई धर्मशाला नही है अत: प्राथमिकता के तौर पर धर्मशाला का निर्माण कराने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि नौकरी में पदोन्नति पर जो आरक्षण व्यवस्था है उस पर सरकारों को विचार करना चाहिए, योग्यता व वरिष्ठता के आधार पर पदोन्नति होने चाहिए, इसे लेकर जो खामियां हैं उन्हें दुरुस्त किया जाए, जिससे ब्राम्हण समाज अपने को शोषित न महसूस कर सके।
 इस अवसर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष महिला विंग अनीता शर्मा, यूथ विंग उत्तराखण्ड के प्रदेश अध्यक्ष उज्जवल पंडित, अन्य पदाधिकारी रमेश चंद शर्मा, भानुप्रताप कुर्ल आदि भी संवाद वार्ता में मौजूद रहे।